Saturday, March 23, 2019

Secrets of Palmistry by Renowned Indian Palmist: MS Dhoni VS Virat Kohli

Secrets of Palmistry by Renowned Indian Palmist: MS Dhoni VS Virat Kohli:     IPL 2019 begins from March 23,2019, and the first match will be played between Chennai Super Kings and Royal Challengers Bangalore. C...

MS Dhoni VS Virat Kohli


  IPL 2019 begins from March 23,2019, and the first match will be played between Chennai Super Kings and Royal Challengers Bangalore. CSK captain MS Dhoni was  the winner last year The Match is between CSK and  RCB or we can say  It's Dhoni vs Kohli  . It would be exciting to watch them perform on day.


MS Dhoni the former captain hand is an achiever.  His hand is a perfect combination of leader and achiever. The individual  short fingers, the broad wide palm, the perfect Head and Heart Lines, the long thumb, the strong Mount of Venus, and well developed Upper Mars all indicate action , courage high standard talent.  He is a man with tremendous mental and physical skills who knows how  to take his talent to the highest level.

 What makes him stubborn He is a perfectionist and very good leader and  but stubborn. His short fingers do make him Obsessive.  Strong Mars and long Sun finger is making him loud . He sets standards for himself and for others, which can become a pain for others.

He strongly desires fame and wants to be known for his skill and talent especially due to his strong Sun finger .
 A media savy Venus is giving him inclination towards media but moodiness as well Moon   gives rise to feelings of jealousy of those more talented than him because he does have feelings of insecurity.

 Dhoni a good planner  Dhoni is a fairly good planner [ Square tip of  Satrun Finger ] It is his creativity and imagination which give him a strong intuitive feel for the game and help him make the right decisions (Mount of Moon and Fingers). He is also shrewd and understands people (Mercury finger) but he is not a master manipulator or cunning strategist in the true sense of the terms due to Sun Finger .His plus points are that he is serious, focussed (Saturn finger shape), intuitive, understands people, is very talented and can see issues objectively, with his emotions well in control. This helps him make the right decisions (Strong thumb, Hand shape and Headline and Heartline ). His negative points are that he can get too critical of others and is at times insecure and vindictive due to Saturn.


Virat Kohli’s hand with its broad square palm  with short fingers and a good mount of Venus with strong Mars and   Moon.  The bony thumb is adding perfectionitis quality. The Lifeline is looking straight with curving headline and strong heart line  and straight Fate line . All these combinations makes him sporty energetic, creative, talented and hardworking individual and star bats man .

A Winner    The Indian captain, straight Life  line reveals he must have faced lot of insecurity and tough time in his childhood . His straight heart line made him caring loving and warm person but also straight forward and arrogant. The angular head line added creative skills .

  Brainy Person  The strongest part according to me is thumb in his hand.  It gives him perfection, focus, self-control determination and management which made him  good batsman   and captain of Indian team.    He is a good human being, the kind of person who commends himself to others.


For a sports man planning, courage confidence is very important which came to him because of long Saturn and Sun  Finger . If you see both  are of more or less of same length . Due to long Sun finger Virat became authoritative, famous and a good leader .   He does not hesitate in trying new things and does lot of experiment which can be risky .   The Jupiter finger is neutral and so is mercury . All these fingers are forming an Arch which gives balance  mind. It do reveal that he accepts his mistakes and try to remove them which will always help him to  grow .

His negative point is he is always in hurry which  can give wrong decisions . He needs to stay Calm .
 What made him marry film star Anushka
His Venus is very strong  along with long Sun finger which gives inclinations towards media , films and  beauty  .


 Written By Nisha Ghai
#MSDONI #Vrat kohli #IPL  #IndianCriket  #RCB #PalmistryAnalysis #CSK #ChennaiSuperking #RoyalchllengersBaglore
Disclaimer –palm reading  on this blog is mostly from the shape of the hands lines  and fingers taken from  photos on the web, which can vary from picture to picture many   lines are not clearly visible in public photos.

Tuesday, February 5, 2019

बसंत पंचमी को #सरस्वती की #पूजा क्यो? Mantra to chan...

Secrets of Palmistry by Renowned Indian Palmist: बसंत पंचमी को सरस्वती की पूजा क्यो? Mantra to chan...: वीणा वादिनी वर दे बसंत पंचमी का पर्व बसंत ऋतु के आगमन की सूचना देता है। चारों तरफ हरियाली महकते फूलों की छटा   बिखे...

Monday, February 4, 2019

बसंत पंचमी को सरस्वती की पूजा क्यो? Mantra to chant on Basant Panchmi

वीणा वादिनी वर दे
बसंत पंचमी का पर्व बसंत ऋतु के आगमन की सूचना देता है। चारों तरफ हरियाली महकते फूलों की छटा  बिखेरती है और मंद वायु से वातावरण सुहाना हो जाता है। खेत खलिहानों में पीली सरसों लहलहाने लगती है। शरद ऋतु की विदाई के साथ पेंड़ पौधों और प्राणियों में नये जीवन का संचार होता है।
ऐसा माना जाता हैं कि बसंत पंचमी के दिन माँ सरस्वती का अवतार हुआ था। कहते है कि माँ सरस्वती के आगमन से प्रकृति का श्रृंगार हुआ तभी से बसंत पंचमी पर माँ सरस्वती की पूजा अर्चना करने की परमपरा शुरू हुई।
ब्संत पंचमी मनाने के संबंध में कई मत प्राप्त हैं। एक के अनुसार इस दिन विद्या की देवी सरस्वती का पूजन करना चाहिये। दूसरे मत में इसे लक्ष्मी सहित विष्णु के पूजन का दिन बताया गया है। एक अन्य मत के अनुसार इस तिथि को रति और कामदेव की पूजा भी करना चाहिये क्यों कि कामदेव और बसंत मित्र हैं।

बसंत पंचमी को सरस्वती की पूजा क्यो?

 बसंत पंचमी 10 फ़रवरी 2019 को है| भारत में माघ मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को सरस्वती की पूजा के दिन रूप में भी मनाया जाता है। धार्मिक ग्रंथों में ऐसी मान्यता है कि इसी दिन शब्दों की शक्ति मनुष्य के जीवन में आई थी। पुराणों में लिखा है सृष्टि को वाणी देने के लिये ब्रह्मा जी ने कमंडल से जल लेकर चारों दिशाओं में छिड़का। इस जल से हाथ में वीणा धारण किये जो शक्ति प्रकट हुई वह सरस्वती कहलाई। उनके वीणा का तार छेड़ते ही तीनो लोकों में ऊर्जा का संचार हुआ और सबको शब्दों की वाणी मिल गई। वह दिन बसंत पंचमी का दिन था इसलिये बसंत पंचमी को सरस्वती देवी का दिन भी माना जाता है।
वीणा और ज्ञान की देवी सरस्वती
वाग्देवी, वीणावादिनी जैसे नामों से जाने वाली देवी ज्ञान और विद्या का प्रतीक है। इन्हे साहित्य, कला, संगीत और शिक्षा की देवी माना जाता है। माँ शारदे की चारों भुजाये चारों दिशाओं का प्रतीक हैं। एक हाथ में वीणा, दूसरे में वेद की पुस्तक, तीसरे में कमंडल तथा चैथे में रूद्राक्ष की माला। यह प्रतीक हमारे जीवन में प्रेंम, समन्वय विद्या, जप, ध्यान तथा मानसिक शांति को प्रकट करते हैं।

इस दिन कैसे करे माँ को प्रसन्न?
बसंत पंचमी के दिन कोई उपवास नहीं होता, केवल पूजा होती है।
 इस दिन पीले वस्त्र पहनने, हल्दी का तिलक लगाकर, मीठे चावल बना कर पूजा करने का विधान है।
 विद्यार्थियों, संगीतकार, कलाकारों के लिये यह विशेष महत्व का दिन है। उन्हे अपनी पुस्तकों, वाद्यों आदि की अवश्य पूजा करनी चाहिये।
 पीला रंग समृद्धि का सूचक भी कहा जाता है।
मां सरस्वती को प्रसन्न करने के लिये  मंत्र का जाप करेंः-
ऊँ ऐं सरस्वत्चैं ऐं नमः का 108 बार जाप करें।
सरस्वती सोत्रम
या कुन्देन्दु-तुषारहार-धवला या शुभ्र-वस्त्रावृता 
या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना। 
या ब्रह्माच्युत शंकर-प्रभृतिभिर्देवैः सदा वन्दिता 
सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा॥

इस प्रार्थना से माँ को प्रसन्न करें।
निशा घई
#पामिस्ट, #ज्योतिष, #अंकशास्त्री # सरस्वती सोत्रम #बसंत पंचमी

Friday, January 18, 2019

Secrets of Palmistry by Renowned Indian Palmist: चंद्र ग्रहण से होगा जीवन में बदलाव

Secrets of Palmistry by Renowned Indian Palmist: चंद्र ग्रहण से होगा जीवन में बदलाव: चंद्र ग्रहण से होगा जीवन में बदलाव    ग्रहण बदलाव की निशानी है | यह बदलाव अच्छा  और बुरा दोनों हो सकता है  ग्रहण के कारण जीवन क...

चंद्र ग्रहण से होगा जीवन में बदलाव

चंद्र ग्रहण से होगा जीवन में बदलाव


  
ग्रहण बदलाव की निशानी है | यह बदलाव अच्छा  और बुरा दोनों हो सकता है  ग्रहण के कारण जीवन की नयी शुरुआत होती है | अगर इसे पॉजिटिव लेंगे तो बदलाव पॉजिटिव होगा नेगिटिव लेंगे तो बुरा |  हमारी  हाथ की रेखाओं और दशा द्वारा  हमें इसका ज्ञात हो  सकता है |

21 जनवरी  2019 को पूर्ण  चंद्र ग्रहण लग रहा है  , समय है   सुबह 09.03 am 54 से 12,20.39 am  तक | क्योंकि ग्रहण भारत में नहीं देखा जायेगा इसलिए सूतक नहीं लगेगा और इसका प्रभाव  नहीं होगा |  ग्रहण का प्रभाव तब पड़ता है जब सूतक  लगता है | चंद्र ग्रहण पुष्य नक्षत्र और कर्क राशि में लगेगा इसलिए इस राशि और नक्षत्र से संबंधित लोग इस चंद्र ग्रहण से प्रभावित हों सकते है |

इस दिन करे ये उपाय जीवन में वृद्धि आये गी

 राशि अनुसार चंद्र ग्रहण के उपाय
 
मेष राशि वालों को मसूर की दाल या लाल कपड़े का दान करना चाहिए।

वृषभ राशि वालों को माता लक्ष्मी का पूजन करना चाहिए।

मिथुन राशि वालों को तनाव दूर करने के लिए गौशाला में दान देना चाहिए।

कर्क राशि वालों को दूध दान करना चाहिए।

सिंह राशि वाले जातकों को सूर्य को जल चढ़ाकर गुड़ का दान करना चाहिए।

कन्या राशि वालों को विष्णु सहस्रनाम का जाप करना चाहिए।

तुला राशि वाले देवी की पूजा करें \

वृश्चिक राशि वाले हनुमान जी की पूजा करें और लाल वस्त्रों का दान करें|

धनु राशि वाले घर में समृद्धि के लिए चने की दाल का दान करें\
मकर राशि वाले लोगों को चंद्र ग्रहण के दिन हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए|

कुंभ राशि वाले तिल के लड्डुओं का दान करें|

मीन राशि वाले जातक केले का दान करें

लेखिका

निशा घई 

#निशाघई #चंद्रग्रहण #2019 #bloodmoon #lunarEclipse